subscribe our channel

क्या गोमूत्र और गोबर है कोरोना वायरस का इलाज ???


 क्या गोमूत्र और गोबर है कोरोना वायरस का इलाज ???

नमस्कार दोस्तों आज हम बात करेंगे करोना वायरस के बारे में करोना वायरस एक ऐसी खतरनाक  बीमारी जो कि चाइना में कुछ समय पहले आई है चीन के अंदर अब तक कोरोना वायरस  के   803030 पॉजिटिव मरीज पाए गए है कुल 13 देश कोरोना वायरस से प्रभावित हुए है जिनमें भारत देश भी है।और अब तक भारत मे 2 पॉजिटिव मरीज पाए गए है ।जिनमे से एक दिल्ली और एक तेलगाना के है।जिसकी पुष्टि हेल्थ मिनिस्टर ने के मीडिया में दिए बयान में की थी।ऐसे में हमे भी इसके बारे में जानना बहुत आवश्यक है कि इस प्रकार के वायरस से किस प्रकार से बचा जाए और यह वायरस क्या है जो कि इतनी तेजी इतनी तेजी से बढ़ रहा है और जो पूरी दुनिया के लिए एक चुनौती है तो आज हम कुछ आयुर्वेद के उपायों से इसके उपचार को समझने का प्रयास करेंगे ।


 How to avoid coronavirus
How to avoid corona virus 


 कोरोना वायरस क्या है??

कोरोनविर्यूज़ (सीओवी) वायरस का एक बड़ा परिवार है जो सामान्य सर्दी से लेकर गंभीर बीमारियों जैसे मध्य पूर्व रेस्पिरेटरी सिंड्रोम (MERS-CoV) और गंभीर एक्यूट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम (SARS-CoV) का कारण बनता है।  एक उपन्यास कोरोनावायरस (nCoV) एक नया तनाव है जो पहले मनुष्यों में पहचाना नहीं गया है।



coronavirus  kya hai
coronavirus  kya hai


 कोरोनावीरस ज़ूनोटिक हैं, जिसका अर्थ है कि वे जानवरों और लोगों के बीच संचारित होते हैं।  विस्तृत जांच में पाया गया कि SARS-CoV को केवेट बिल्लियों से मनुष्यों और MERS-CoV से ड्रोमेडरी ऊंटों से मनुष्यों में स्थानांतरित किया गया।  कई ज्ञात कोरोनवीरस उन जानवरों में घूम रहे हैं जिन्होंने अभी तक मनुष्यों को संक्रमित नहीं किया है।

 कोरोना वायरस के लक्षण एवम बचाव  :-


 संक्रमण के सामान्य संकेतों में श्वसन संबंधी लक्षण, बुखार, खांसी, सांस लेने में तकलीफ और सांस लेने में कठिनाई शामिल हैं।  अधिक गंभीर मामलों में, संक्रमण से निमोनिया, गंभीर तीव्र श्वसन सिंड्रोम, गुर्दे की विफलता और यहां तक ​​कि मृत्यु भी हो सकती है।
 कोरोना वायरस के लक्षण एवम बचाव

 

कोरोना वायरस अब भारत मे भी दस्तक दिया। सावधानी जरूर बरते।।

1- मांसाहारी भोजन से बचे।।
2 - भीड़ -भाड़ जगहों पर जाने से बचे।।
3 - मास्क का प्रयोग करें।।
4 - बार-बार साबुन से हाथ धोएं।।
5 - सेनेटाइजर का प्रयोग करें ।।
6 - जुखाम,खाँसी या तेज बुखार वाले  से कम से कम 2 से 3 मीटर की दूरी बरते तथा मास्क का प्रयोग करें एवं शीघ्र डॉक्टर से परामर्श लेने का सलाह दें।।
7- जुखाम, खाँसी, या तेज बुखार होने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।।
8 - गिलोय, तुलसी, काली मिर्च वाली काढ़ा कम से कम सुबह-शाम पीना प्रारम्भ कर दें, ताकि शरीर का प्रतिरोधक क्षमता ठीक रहें।।
9 - प्रत्येक दिन साबुन से अच्छे तरीका से स्नान करें तथा साफ कपड़ा पहने तथा घर के सभी सदस्यों को ऐसा करने के लिय परामर्श दें तथा कराएं।।
10 - मोबाइल हर जगह न रखें, सिंगल हैंडेड प्रयोग अनिवार्य है।।
11 - संभव हो तो घर मे लग रहे पोछा के पानी मे 2 प्रतिशत IPA डाल कर पोछा लगाएं।।
12 - बिना हाथ धोय, हाथ यानी उंगली को मुह के अंदर न डालें।।
13 - प्लास्टिक सतह पर इस वायरस की लाइफ 7 से 8 दिन होती है, हो सके तो प्लास्टिक हटाने लायक हो तो घरों से हटा दें।
14 - बाहर के कोई भी पके सामग्री को खाने से बचे।।
15 - साग, सब्जी को सही ढंग से धोने के बाद ही प्रयोग करें।।
16 -  जैसे-जैसे तापमान बढ़ेगा, यह वायरस असुरक्षित होता जाएगा, 35 डिग्री सेंटीग्रेट के ऊपर इसकी serviving दर काफी तेजी से गिरता  जाता है।।

यह सिर्फ सावधानियां है, जिससे बचा जा सकता है, उपरोक्त लक्षण मिलने पर शीघ्र शिक्षित डॉक्टर से संपर्क करें। लापरवाही बिल्कुन न करें।।


 गोमूत्र और गोबर से करें कोरोना वायरस का इलाज।

मुझे आपको बताने में खुशी हो रही है कि गाय एक ऐसे संपदा है जिससे किसान ही नहीं खुश होता है बल्कि इससे बीमार की औषधि भी निकली है जिससे कैंसर की औषधि का अविष्कार भी शुरू हुआ है गुजरात के एक आयुर्वेदिक अस्पताल में कैंसर के मरीजों को गाय के साथ रहने दिया जाता है उनको गाय के गोबर का लेप लगाया जाता है गाय के मूत्र का पंचामृत बना कर दिया जाता है दिया जाता है इस विधि से मरीज के स्वस्थ होने का प्रमाण हमें मिला है हमारे ऋषि-मुनियों ने अभी गाय के गोबर से यज्ञ किया था मैं गोबर के साथ उसमें आयुर्वेदिक औषधि मिलाकर यज्ञ में आहुति देते थे जिससे 5-10 किलोमीटर का इलाका  शुद्ध कर देते थे इस तरह के प्रयोग करें निश्चित के प्रयोग करें निश्चित लाभ मिलेगा। अगर आपके घरो में गाय माता नहीं है  और आपको नहीं पता की गोमूत्र का अर्क या गायत्री रसायन कहा से ले तो आप  बाजार में  आयर्वेदिक स्टाल पर आप बहुत आसानी से इससे खरीद सकते है जैसे हम आपको निचे एक उदाहरण के लिए इमेज में दिखा रहे है 
https://www.djfoundation.co/medhohar-arg-500ml
गायत्री रसायन 


इसके साथ ही आप कुछ और घरेलू उपाय करके बहुत आसानी से CORONAVIRUS से बच सकते है 

कोरोना वायरस से कैसे बचें....

अदरक

 अदरक की चाय का सेवन करना तो फायदेमंद है ही, आप शहद के साथ भी अदरक खा सकते हैं।

हल्दी

एंटीऑक्सिडेंट और इंफ्लेमिट्री कंपाउंड से भरपूर हल्दी आपके शरीर को एलर्जी से लड़ने के काबिल बनाता है। ये आपकी इम्यूनिटी को मजबूत बनाता है। गर्म दूध में एक चम्मच हल्दी पाउडर डालकर पीना बहुत ही सेहतमंद होता है।

अलसी

यह आपके बेड कोलेस्ट्रोल को कम करते हैं और कैंसर जैसे घातक बीमारी के खतरे से भी आपको बचाते हैं। यह आपके दिल से लेकर दिमाग तक को स्वस्थ रखता है। इसमें एंटी एलर्जिक सीलियम और ओमेगा-3 फैटी ऐसिड होता है। एक चम्मच अलसी के बीज को गरम दूध के साथ पीने से या फिर सलाद या दही के साथ इसका सेवन करने से आपकी इम्यूनिटी बढ़ती है।


दालचीनी

खासकर सर्दी और सीजनल फ्लू में यह अपने एंटी वायरल और एंटी फंगल गुणों के कारण दवा का काम करता है। सब्जी में मसाले के रूप में तो दालचीनी प्रयोग होता ही है, आप दालचीनी की चाय का सेवन भी कर सकते हैं।

तुलसी 

एंटी वायरल और एंटी इन्फ्लेमेट्री जैसे औषधीय गुणों से भरपूर तुलसी कई बीमारियों का इलाज है। यह आपकी इम्यूनिटी बढ़ाती है। तुलसी के पत्तों का खाली पेट सेवन करना बहुत फायदेमंद है। हर दिन तुलसी की 5 पत्तियां, एक चम्मच शहर के साथ खाने से रोगों से लड़ने की आपकी क्षमता बढ़ती है। इसके साथ तीन से चार काली मिर्च के दाने भी चबाना फायदेमंद होगा।

अगर आपको हमारी जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों और परिवार के लोगो से जरूर साँझा करे 

 कोरोना वायरस और भी पढ़े यहां क्लिक करें ! 


Post a Comment

2 Comments