subscribe our channel

ऐसे पाएं Vitamin D (विटामिन डी) की कमी से छुटकारा |


हर कोई व्यक्ति अपनी बॉडी को फिट रखना चाहता है अपने तंदुरुस्त देखना चाहता है और हमेशा एक्टिव रहना चाहता है लेकिन कुछेक कमियों के कारण या फिर किसी चीज के अभाव के कारण हम अपने शरीर को फिट नहीं रख पाते हैं तंदुरुस्त नहीं रह पाते जिसके पीछे बहुत सारे कारण हैं जिनमें से  अगर हम बात करें हमारी बॉडी को संतुलित ढंग से चलाने के लिए हमारी शरीर को हर प्रकार से विटामिंस मिनरल्स अन्य पोषक तत्वों की जरूरत होती है 


इसमें से हर एक चाहे वह विटामिन हैं मिनरल्स है या कोई अन्य पोषक तत्व है सभी ही हमारी बॉडी के लिए बहुत महत्वपूर्ण है लेकिनअगर हम बात करें तो विटामिन डी एक ऐसा विटामिन है जिसकी कमी अगर शरीर में हो जाए तो हम प्राकृतिक तरीके से इसको पूरी करने में असफल रहते हैं पर आपने देखा होगा विटामिन डी के बहुत सारे कैप्सूल बाजार में उपलब्ध है आयुर्वेद में अन्य चिकित्सा प्रणाली में भी इसकी पूर्ति के बहुत सारे उपाय बताएं आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से विटामिन डी के बारे में बताएंगे कि विटामिन डी के लिए कितना महत्वपूर्ण काम करता है हमारी बॉडी को संतुलित ढंग से चलाने में इसका एक महत्वपूर्ण हिस्सा है


विटामिन डी की कमी से पाएं छुटकारा 

नमस्कार दोस्तों आपका फिर से स्वागत है हमारे हेल्थ टिप्स में आज मैं आपको विटामिन डी के बारे में बताएंगे तथा विटामिन डी के क्या लक्षण है और vitamin d की कमी का इलाज भी बताऊंगा
दोस्तों भारत में हुए एक सर्वे के अनुसार 85% लोग विटामिन डी की कमी से ग्रसित है। इसलिए दोस्तों आर्टिकल को पूरा पढ़ें और जाने कहीं आप भी विटामिन डी की कमी तो नहीं है।
साथ में विटामिन डी की कमी के लक्षणों के बारे में बताऊंगा तथा इसका संपूर्ण किस तरह इलाज केसे हो यह भी बताऊंगा।


विटामिन डी की जानकारी सभी के लिए चाहे बड़ा और छोटा हो महिला हो पुरुष हो या बच्चे सभी के लिए जरूरी है।जैसे कि हमारी बॉडी में विटामिन  A  b k d विटामिंस होते हैं लेकिन मारी पौड़ी के लिए विटामिन डी बहुत ही जरूरी है विटामिन है। क्योंकि विटामिन डी हमारे शरीर के लिए एक हार्मोन की तरह  काम करता है। यह विटामिन हमारे शरीर में कैस्ट्रोल के द्वारा बनता है जब भी हम धूप  के संपर्क में आते हैं या धूप में बैठते है। ऐसा तब होता है जब हम धूप में लगभग 40 मिनट तक बैठे।विटामिन डी हमारे शरीर के इम्यून सिस्टम को बढ़ाता है जिससे शरीर की शक्तियां बढ़ती है जो हमें बीमारियों से लड़ने की शक्ति देता है। इसके साथ शरीर की हड्डियां के लिए दांतो के लिए विटामिन डी बहुत ही जरूरी है। विटामिन डी शरीर में कैल्शियम खूब बढ़ाता है अगर आप कैल्शियम के रूप में दूध या कोई  और कुछ पोस्टिक आहार लेते हो तो तभी काम करेगा जब आपके अंदर विटामिन डी की मात्रा पूरी हो अगर आप में विटामिन डी की कमी तो कैल्शियम की मात्रा पूरी नहीं हो पाती है । विटामिन डी बालों के लिए भी बहुत जरूरी है।

।।जाने क्या लक्षण हैं विटामिन डी की कमी के।


*विटामिन डी की कमी से शरीर कमजोर पड़ना तथा बार-बार बीमार होना क्योंकि विटामिन डी की कमी से इम्यून सिस्टम स्ट्रांग नहीं हो पाता जिससे बार-बार बीमारियां लगना जिसे सर्दी जुखाम होना बुखार का रहना हल्की-फुल्की एलर्जी रहना मौसम के अनुसार।

*विटामिन डी की कमी के लक्षणों में ज्यादा तर शरीर के जॉइंट्स दर्द करना घुटनों का दर्द करना कमर का दर्द करना हाथ पैरों में बहुत ज्यादा दर्द रहना लंबे समय तक। क्योंकि विटामिन डी की कमी के कारण शरीर में कैल्शियम की कमी होती है जिससे जॉन्स का दर्द होता है।


*विटामिन डी की कमी से शरीर में सुस्ती रहना पूरा पूरा दिन आलस्य रहना पूरे शरीर में थकान महसूस होना या थोड़ा सा हार्ड वर्क करने पर भी बॉडी का जल्दी थक जाना भी विटामिन डी की कमी का मुख्य लक्षण है।

*विटामिन डी की कमी से कुछ भी ना करने का मन हो ना या हम कहते हैं विटामिन डी की कमी से शरीर में नेगेटिव थिंकिंग याद आती है या फिर बॉडी के हैप्पी हार्मोन ज्यादा कम होने लगता है इससे कोई काम में मन नहीं लगता कहीं जाने का मन नहीं करता है।

*विटामिन डी की कमी से शरीर की हड्डियों की मजबूती कम होना यानी शरीर में कैल्शियम की कमी होने के कारण शरीर की हड्डियां कमजोर होती जाती है जिससे आपकी शरीर में एक हड्डियों  ऑस्टोप्रोस्टिस नामक रोग से ग्रसित होते जा रहे है। ऐसा ज्यादातर बुजुर्ग के साथ होता है।

हड्डियों का जल्दी टूट जाना विटामिन डी की कमी का लक्षण है अगर आपको कोई चोट लगी है उसका कहा हो जल्दी नहीं भरता लंबे समय तक रहता है तो यह विटामिन डी की कमी का मुख्य लक्षण है।

*विटामिन डी की कमी के मुख्य लक्षणों में बालों का झड़ना भी विटामिन डी की कमी का संकेत है।
*बार-बार शरीर की मांसपेशियों में दर्द रहना विटामिन डी की कमी का लक्षण है।

अगर आपके शरीर में इन लक्षणों में से कोई भी लक्षण दिखाई देता है तो आपने विटामिन डी की कमी है हो सकती है या फिर आप विटामिन डी की कमी का चेकअप भी करवा सकते हैं जैसे लैब टेस्ट करा सकते हैं जिससे आपको आपके शरीर के विटामिन डी की कमी के बारे में पता चल सकता है
विटामिन डी की टेस्ट मै रेंज 30 से 60 तक लगभग है तो आपके शरीर में विटामिन डी की बिल्कुल भी कमी नहीं है अगर विटामिन डी की टेस्ट रेंज 20 से 30 के बीच में आती है तो अपने विटामिन डी की कमी है।

 ।।जाने रोजाना कितना विटामिन डी हमारे शरीर के लिए जरूरी है।।


विटामिन डी तुम्हारे शरीर के लिए रोजाना 600 से 800आईयू तक होती है आईयू यह विटामिन डी की यूनिट होती है।अगर आप एक कोई एक एथलीट या कोई स्पोर्ट्स गेम खेलते हैं या एक्सरसाइज करते हैं तो  1000 से लेकर 4000 आई यू तक विटामिन डी की जरूरत है।

।।जाने विटामिन डी की पूर्ति के लिए कौन से सप्लीमेंट का उपयोग करें।।

अगर आपकी बॉडी में कैल्शियम की ज्यादा कमी है तो आप अपने नजदीकी मेडिकल स्टोर से कैल्शियम की गोलियां लेकर उसे डॉक्टर की सलाह से का कर अपने विटामिन डी की कमी को पूरा कर सकते हैं 

या आप मेडिकल स्टोर से छोटे-छोटे पाउच में कैल्शियम की पूरियां मिलती है जो कैलशिरोल के नाम से है वह भी ले सकते हैं डॉक्टर की सलाह के अनुसार और अपने विटामिन डी की कमी को पूरा कर सकते हैं



दोस्तों आप ऊपर दिए गए सभी उपायों को अपनाकर अगर आप में भी विटामिन डी की कमी है तो आप उसे पूरा कर सकते हैं अगर आपको हमारा आर्टिकल अच्छा लगा हो तो कृपया इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें आप अपने विचारों को हमारे पास कमेंट के द्वारा भी पहुंचा सकते हैं धन्यवाद



Post a Comment

0 Comments